April 11, 2021
presstv.in
छत्तीसगढ़ राजनीति राज्य विशेष

सरकार ने अफसर पर नहीं की कार्रवाई तो कांग्रेस विधायक ने सोनिया गांधी को लिख दी चिट्‌ठी, कहा – जनाधार प्रभावित होगा

रायपुर
कांग्रेस नेता अनिता शर्मा धरसीवां से विधायक हैं। वे क्षेत्र के मुद्दों को लेकर पहले भी मुखर रही हैं। सोनिया गांधी को लिखी उनकी चिट्‌ठी से कांग्रेस में बवाल मचा हुआ है।
  • पंचायत विभाग के अफसर अशोक चतुर्वेदी पर लगाया भ्रष्टाचार का आरोप
  • पिछली सरकार में पाठ्य पुस्तक निगम के एमडी थे चतुर्वेदी, विवादित भी रहे

छत्तीसगढ़ में सत्ताधारी कांग्रेस की अंदरूनी सियासत एक बार फिर गर्म होती दिख रही है। कांग्रेस की धरसीवां विधायक अनिता शर्मा ने पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अफसर अशोक चतुर्वेदी पर कार्रवाई का निर्देश देने की मांग की है। विधायक ने लिखा है कि भ्रष्ट अफसर पर कार्रवाई और उनको संरक्षण देने वालों की पहचान नहीं हुई तो कांग्रेस का जनाधार और लोकप्रियता प्रभावित हो सकती है।

मामला पाठ्य पुस्तक निगम में हुये भ्रष्टाचार से जुड़ा हुआ है। सोनिया गांधी को लिखे पत्र में अनिता शर्मा आरोप लगाया है कि अशोक चतुर्वेदी के कार्यकाल में छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम में करोड़ाें का भ्रष्टाचार हुआ। टेंडर प्रक्रिया में अनियमितता हुई। ब्लैक लिस्टेड फर्मों को काम दिया गया। स्वेच्छानुदान के नाम पर लाखों रुपये अपात्रों को दे दिये गये जिनका शैक्षणिक उन्नयन से कोई संबंध ही नहीं था। उनके खिलाफ एंटी करप्शन ब्यूरों में मामला दर्ज है। मामला सामने आने के बाद सरकार ने नवम्बर 2019 में उनकी सेवाएं पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग को वापस लौटा दी थीं। अशोक चतुर्वेदी अब ग्रामीण कौशल विकास योजना के राज्य प्रबंधक और राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के संचालक पद पर काम कर रहे हैं। उनके इन पदों का प्रभार मिलने से ही बात भड़की हुई है।

पत्र में अनिता शर्मा ने बताया है, उसके बाद चतुर्वेदी ने सरकार के खिलाफ उच्च न्यायालय में कई याचिकाएं डाली हैं। उन्होंने 2015 से 2019 के बीच पाठ्य पुस्तक निगम में हुई खरीदी, टेंडर प्रक्रिया, स्वेच्छानुदान आदि की CBI से जांच कराने की मांग भी उठाई है। कांग्रेस विधायक ने लिखा है, भाजपा शासन में भ्रष्टाचार में डूबे अधिकारी को कांग्रेस शासनकाल में भी महत्वपूर्ण पद मिलना जनता के बीच चर्चा का केंद्र बना हुआ है। इससे प्रदेश की ही नहीं सरकार और पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की छवि भी खराब हो रही है। इसका सीधा असर कांग्रेस और कांग्रेस सरकार की लोकप्रियता पर पड़ रहा है। विधायक ने लिखा है कि अशोक चतुर्वेदी को महत्वपूर्ण पद पर देखकर कांग्रेस के निष्ठावान जमीनी कार्यकर्ताओं के मन में वेदना है। इसका समाधान सिर्फ आपके माध्यम से ही हो सकता है।

भाजपा नेताओं से मिलीभगत का आरोप भी

विधायक अनिता शर्मा ने इस मामले में भाजपा नेताओं के भी शामिल होने की बात लिखी है। उन्होंने बताया, भाजपा नेता देवजी भाई पटेल जब धरसीवां के विधायक थे। उस समय अशोक चतुर्वेदी धरसीवां जनपद पंचायत के CEO थे। बाद में जब पटेल को पाठ्य पुस्तक निगम का अध्यक्ष बनाया गया तो उन्होंने नियमों को दरकिनार कर अशोक चतुर्वेदी को प्रबंध संचालक बनवाया। जबकि यह पद प्रथम श्रेणी के अधिकारी के लिये सुरक्षित था।

कहीं पर निगाहें, कहीं पर निशाना

कांग्रेस सूत्रों का मानना है कि इस पत्र के जरिये कहीं और निशाना लगाया गया है। क्षेत्रीय राजनीति में देवजी भाई पटेल अभी भी धरसीवां क्षेत्र में सक्रिय हैं। उनके लोगों को कांग्रेस सरकार में भी मलाईदार पोस्ट पर होने से अनिता शर्मा की स्थिति क्षेत्र में थोड़ी कमजोर होती दिख रही है। वहीं पंचायत एवं ग्रामीण विकास के मामले की शिकायत राष्ट्रीय अध्यक्ष तक पहुंचाकर विभागीय मंत्री टीएस सिंहदेव को भी घेरने की कोशिश की गई है। इन मुद्दों पर स्पष्टीकरण के लिये विधायक अनिता शर्मा से कई बार संपर्क किया गया, लेकिन उनका फोन नहीं उठ रहा है।

Related posts

छत्तीसगढ़ में कोरोना:पिछले 24 घंटे में 1423 नए मरीज मिले, राज्य में कोविड से मौत का औसत राष्ट्रीय औसत से ज्यादा, केंद्र की रिपोर्ट में खुलासा

presstv

मध्य प्रदेश का बदलता मौसम:गर्मी से अभी 2 दिन और राहत रहेगी; उत्तर से हीटवेव आने के कारण 4 अप्रैल से तापमान बढ़ेगा, हफ्ते के अंत तक पारा 41 के पार होगा

presstv

मध्यप्रदेश में कोरोना:पहली बार 10% की दर से पॉजिटिव केस आए; होली पर 2323 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई, एक्टिव केस 15 हजार के पार पहुंचे

presstv

महाराष्ट्र में फिर लॉकडाउन की तैयारी:CM उद्धव ठाकरे ने अफसरों से कहा- लॉकडाउन की स्ट्रैटजी बनाएं; एक ही दिन में 40 हजार से ज्यादा केस आने से चिंता बढ़ी

presstv

Shah Rukh Khan plays a scientist in Ranbir Kapoor, Alia Bhatt-starrer Brahmastra: report

Admin

मरवाही वन मण्डल के मरवाही, गौरेला, पेन्ड्रा और खोडरी वनपरिक्षेत्र में जमकर घोटाला, फर्जी देयक भुगतान का मामला, आर0टी0आई0 के जरिये मांगा गया दस्तावेज, और बैंक स्टेटमेन्ट के ट्रांजेक्सन दस्तातेजों की छायाप्रति, एक महीने में जानकारी नहीं देने पर मामला सीधा हाई कोर्ट में प्रस्तुत करने की तैयारी।

presstv

Leave a Comment