January 27, 2022
presstv.in
94_1617323704
कांकेर जिला (उत्तर बस्तर) छत्तीसगढ़ जीवन शैली भ्रष्टाचार राज्य

जंगलों में आग के बाद अब दीमक भी बनी आफत:ईच्छापुर मर्दापोटी के जंगलों में दीमक का प्रकोप, सूखकर नष्ट हो रहे पेड़

कांकेर
  • जंगल में पेड़ों को आग के अलावा दीमक से भी खतरा है।

जंगल में पेड़ों को आग के अलावा दीमक से भी खतरा है। जिले के जंगलों में बड़ी संख्या में पेड़ों में दीमक लग रही है। दीमक पेड़ों को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचा रहे हैं। खासकर ईच्छापुर मर्दापोटी के जंगलों में दीमक ने बड़ी संख्या में पेड़ों को नुकसान पहुंचाया है।

दीमक लगने से कुछ ही समय में हरे भरे पेड़ सूख जाते हैं। दीमक की वजह से प्रतिवर्ष जंगल में हरे भरे पेड़ों को नुकसान पहुंच रहा है। बचाव के लिए वनविभाग कोई उपाय नही कर रहा है। ग्राम ईच्छापुर, मर्दापोटी के जंगलों में बड़ी संख्या में पेड़ों को दीमक से नुकसान नजर आ रहा है।

कई पेड़ सूखकर तथा खोखला होकर नष्ट हो चुके हैं। शहर के भंडारीपारा, गोविंदपुर में भी कुछ हरे भरे पेड़ को दीमक खोखला कर चुके हैं। पेड़ों पर दीमक अपनी परत बना लेते हैं। दीमक कछार मिट्टी वाले जगह में ज्यादा होते हैं। खासकर कुसुम तथा महुआ पेड़ में दीमक का प्रकोप ज्यादा होता है। जिला पंचायत सदस्य राजेश भास्कर ने कहा दीमक की वजह से मर्दापोटी में काफी सारे फलदार पेड़ों को नुकसान हुआ है। पेड़ों को बचाने वन विभाग को ध्यान देना चाहिए।

रासायनिक घोल से दीमक का प्रकोप होता है कम

वनस्पति शास्त्र की सहायक प्राध्यापक आर कुलदीप के अनुसार दीमक लगने से पेड़ सूखने लगते हैं तथा कुछ समय में नष्ट हो जाते हैं। दीमक पेड़ों को जड़ से नुकसान पहुंचाते हैं। संरक्षण के लिए शुरूआती दौर में ही रासायनिक घोल डालने से दीमक का प्रकोप कम हो जाता है। पर्यावरण संरक्षण से जुड़े ग्रीन कमांडो विरेंद्र सिंह ने कहा पौधों को दीमक से बचाने के लिए वन विभाग को गंभीरता से ध्यान देना चाहिए। मर्दापोटी के साथ कच्चे क्षेत्र में भी बड़ी संख्या में पेड़ों को दीमक ने शिकार बनाया है।

पौधे लगाते समय ध्यान दिया जाता है: डीएफओ

कांकेर डीएफओ अरविंग पीएम ने कहा जब नए पौधे लगाए जाते हैं तभी उन्हें दीमक से बचाने रासयानिक घोल डाला जाता है। दीमक सभी जगह पर नहीं लगता। दीमक प्राकृतिक आपदा है।

Related posts

खिड़की से झांका तो ट्रक ने उड़ा दिया सिर; मौके पर ही मौत, ट्रक ड्राइवर फरार

presstv

छत्तीसगढ़ में एक्टिव केस लगातार बढ़ रहे:पिछले 24 घंटे में कोरोना के 15,902 नए केस मिले, संक्रमण से 229 लोगों की मौत

presstv

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा का विरोध:छत्तीसगढ़ भाजपा के नेता अपने-अपने घरों के बाहर धरने पर बैठे, रमन सिंह ने कहा- लोकतंत्र के इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ

presstv

छत्तीसगढ़ में कोरोना:पिछले 24 घंटे में 1423 नए मरीज मिले, राज्य में कोविड से मौत का औसत राष्ट्रीय औसत से ज्यादा, केंद्र की रिपोर्ट में खुलासा

presstv

मौसम साफ:बादल कम होते ही दिन के तापमान में इजाफा, लेकिन हवा चलने से धूप तेज महसूस नहीं हुई

presstv

बार कौसिंल ऑफ इंडिया ने लालू को दी राहत:जमानत मिलने के 13 दिन बाद जेल से बाहर आ सकेंगे RJD सुप्रीमो, बेल बॉन्ड भराने के बाद CBI कोर्ट ने जारी किया रिलीज ऑर्डर

presstv

Leave a Comment