October 18, 2021
presstv.in
कांकेर जिला (उत्तर बस्तर) छत्तीसगढ़ जीवन शैली भ्रष्टाचार राज्य

जंगलों में आग के बाद अब दीमक भी बनी आफत:ईच्छापुर मर्दापोटी के जंगलों में दीमक का प्रकोप, सूखकर नष्ट हो रहे पेड़

कांकेर
  • जंगल में पेड़ों को आग के अलावा दीमक से भी खतरा है।

जंगल में पेड़ों को आग के अलावा दीमक से भी खतरा है। जिले के जंगलों में बड़ी संख्या में पेड़ों में दीमक लग रही है। दीमक पेड़ों को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचा रहे हैं। खासकर ईच्छापुर मर्दापोटी के जंगलों में दीमक ने बड़ी संख्या में पेड़ों को नुकसान पहुंचाया है।

दीमक लगने से कुछ ही समय में हरे भरे पेड़ सूख जाते हैं। दीमक की वजह से प्रतिवर्ष जंगल में हरे भरे पेड़ों को नुकसान पहुंच रहा है। बचाव के लिए वनविभाग कोई उपाय नही कर रहा है। ग्राम ईच्छापुर, मर्दापोटी के जंगलों में बड़ी संख्या में पेड़ों को दीमक से नुकसान नजर आ रहा है।

कई पेड़ सूखकर तथा खोखला होकर नष्ट हो चुके हैं। शहर के भंडारीपारा, गोविंदपुर में भी कुछ हरे भरे पेड़ को दीमक खोखला कर चुके हैं। पेड़ों पर दीमक अपनी परत बना लेते हैं। दीमक कछार मिट्टी वाले जगह में ज्यादा होते हैं। खासकर कुसुम तथा महुआ पेड़ में दीमक का प्रकोप ज्यादा होता है। जिला पंचायत सदस्य राजेश भास्कर ने कहा दीमक की वजह से मर्दापोटी में काफी सारे फलदार पेड़ों को नुकसान हुआ है। पेड़ों को बचाने वन विभाग को ध्यान देना चाहिए।

रासायनिक घोल से दीमक का प्रकोप होता है कम

वनस्पति शास्त्र की सहायक प्राध्यापक आर कुलदीप के अनुसार दीमक लगने से पेड़ सूखने लगते हैं तथा कुछ समय में नष्ट हो जाते हैं। दीमक पेड़ों को जड़ से नुकसान पहुंचाते हैं। संरक्षण के लिए शुरूआती दौर में ही रासायनिक घोल डालने से दीमक का प्रकोप कम हो जाता है। पर्यावरण संरक्षण से जुड़े ग्रीन कमांडो विरेंद्र सिंह ने कहा पौधों को दीमक से बचाने के लिए वन विभाग को गंभीरता से ध्यान देना चाहिए। मर्दापोटी के साथ कच्चे क्षेत्र में भी बड़ी संख्या में पेड़ों को दीमक ने शिकार बनाया है।

पौधे लगाते समय ध्यान दिया जाता है: डीएफओ

कांकेर डीएफओ अरविंग पीएम ने कहा जब नए पौधे लगाए जाते हैं तभी उन्हें दीमक से बचाने रासयानिक घोल डाला जाता है। दीमक सभी जगह पर नहीं लगता। दीमक प्राकृतिक आपदा है।

Related posts

अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री और केंद्रीय खेल मंत्री रिजीजू के ख़िलाफ़ पुलिस में शिकायत दर्ज

presstv

रूसी वैक्सीन स्पुतनिक-V की पहली खेप 1 मई को भारत आएगी, एक साल में 85 करोड़ डोज बनाएगी कंपनी

presstv

US House of Representatives passes Trump-backed coronavirus relief package

Admin

मध्य प्रदेश में 2003 से 2018 के बीच कोई गोशाला नहीं बनी: सरकार

presstv

मणिपुर: असम राइफल्स के मेजर ने कथित तौर पर ग्रामीण को गोली मारी, पुलिस करेगी जांच

presstv

CG में 3 हजार पदों पर भर्तियां:विद्युत वितरण कंपनी ने लाइनमेन के पदों की संख्या दोगुनी की, 20 सितंबर तक कर सकेंगे आवेदन; सिर्फ मूल निवासी ही होंगे पात्र

presstv

Leave a Comment