November 27, 2022
THE PRESS TV (द प्रेस टीवी)
bilaspur-high-court1619420562_1619426012
Other छत्तीसगढ़

तलाकशुदा पत्नी को मेंटेनेंस का अधिकार नहीं:छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने दिया अहम फैसला कहा- तलाक हो जाने के बाद पत्नी को भरण-पोषण मांगने का हक नहीं

बिलासपुर
मामले की सुनवाई जस्टिस प्रशांत कुमार मिश्रा व जस्टिस एनके चंद्रवंशी की डिवीजन बेंच में हुई।

हाईकोर्ट ने भरण पोषण की एक याचिका पर सुनवाई करते हुए आदेश पारित किया कि तलाक के बाद पत्नी मेंटेनेंस की राशि नहीं ले सकती है। मामले की सुनवाई जस्टिस प्रशांत कुमार मिश्रा व जस्टिस एनके चंद्रवंशी की डिवीजन बेंच में हुई।

राहुल तिवारी ने अधिवक्ता रामसेवक सोनी के माध्यम से हाईकोर्ट में याचिका प्रस्तुत की। इसमें उन्होंने बताया कि उनकी शादी वंदना तिवारी के साथ हुई थी। शादी के बाद दोनों मात्र एक माह साथ रहे। बाद में पत्नी स्वेच्छा से अलग होकर अपने मायके मनेंद्रगढ़ आ गई। वहीं रहते हुए उसने दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 125 के तहत भरण पोषण के लिए कोर्ट में आवेदन प्रस्तुत किया जो 2017 में खारिज हो गया, क्योंकि वह स्वेच्छा से अलग रह रही थी। इस पर उन्होंने तलाक के लिए आवेदन प्रस्तुत कर दिया। तलाक का मामला चलने के दौरान ही पत्नी ने हिंदू दत्तक भरण पोषण अधिनियम की धारा 18 के तहत विवाहित महिला को भरण पोषण दिलाए जाने की मांग की। तब तक उसी परिवार न्यायालय ने पति पत्नी केे बीच तलाक की डिक्री पारित कर दी। इसके 1 माह बाद न्यायालय ने हिन्दू दत्तक भरण पोषण अधिनियम की धारा 18 के तहत पत्नी के आवेदन को स्वीकार करते हुए 3000 प्रतिमाह देने का आदेश पति को दिया।

पत्नी के पक्ष में फैसला देने के आदेश को याचिकाकर्ता ने हाईकोर्ट में अपील प्रस्तुत कर चुनौती दी। जिसमें सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट के चंद्रभवन मामले को अहम बताते हुए कोर्ट ने अंतरिम आदेश पारित किया। हाईकोर्ट ने निचली अदालत के फैसले को निरस्त कर याचिकाकर्ता की अपील को स्वीकार कर लिया। कोर्ट ने कहा कि महिला तलाकशुदा है, हिंदू दांपत्य पुनर्व्यवस्थापन की धारा 9 का पालन नहीं हुआ था और वह याचिकाकर्ता के साथ रहने के लिए जबलपुर अपने ससुराल नहीं गई। दोनों के मध्य तलाक भी हो चुका है। इस आधार पर याचिकाकर्ता की अपील को स्वीकार किया जाता है। कोर्ट ने अपने आदेश में यह भी कहा कि एक तलाकशुदा पत्नी हिंदू विवाह दत्तक भरण पोषण अधिनियम की धारा 18 के तहत भरण पोषण प्राप्त करने की अधिकारी नहीं है।

Related posts

SECL गेवरा कोयला खदान का घेराव:युवक कांग्रेस और पुलिस की झड़प; जर्जर सड़क और भू-विस्थापितों की मांग को लेकर सड़क पर उतरे

presstv

राष्ट्रपति पद के लिए ये हो सकते हैं विपक्ष के उम्मीदवार, भाजपा को हो सकती है दिक्कत

Admin

कोरोना दुनिया में:फ्रांस में 3 हफ्तों के लिए स्कूल बंद,घरेलू उड़ानों पर भी एक महीने का प्रतिबंध; जॉनसन एंड जॉनसन की डेढ़ करोड़ वैक्सीन बर्बाद हुई

presstv

बहुचरणीय चुनाव पर पुनर्विचार करने का समय आ गया है: पूर्व निर्वाचन आयुक्त टीएस कृष्णमूर्ति

presstv

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल : देश में कोयला संकट नहीं तो, ट्रेनें रद्द क्यों की जा रही हैं

Admin

अमेरिकी स्टडी में डराने वाला दावा, भारत में आने वाली है और बड़ी तबाही? Corona Spike In India

presstv

Leave a Comment