January 27, 2022
presstv.in
1_1619777647
Covid-19 Other छत्तीसगढ़ राजनीति राज्य विशेष शिक्षा संपादकीय स्वस्थ्य

टीके पर राजनीतिक आभार:छत्तीसगढ़ में घरों के बाहर प्लेकार्ड लेकर खड़े हुए युवा कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता, दो दिन पहले तय हुआ था कार्यक्रम

रायपुर
युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पूर्णचंद्र पाढी ने अपने घर के बाहर आभार प्रदर्शन किया। संगठन के दूसरे नेता भी स्लोगन लिखा प्लेकार्ड लेकर घरों के बाहर खड़े हुए।

छत्तीसगढ़ में 18 से 45 वर्ष आयु वर्ग के मुफ्त टीकाकरण की घोषणा के बाद राजनीतिक माइलेज लेने की कोशिश शुरू हो चुकी है। युवा कांग्रेस ने आज प्रदेश भर में आभार दिवस मनाया है। संगठन के नेता-कार्यकर्ता अपने घरों के बाहर प्ले कार्ड लेकर खड़े हुए। इस पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव को धन्यवाद देता हुआ स्लोगन लिखा था।

युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कोको पाढ़ी ने कहा, “एक ओर जहां केंद्र की मोदी सरकार युवाओं के प्रति अपनी जिम्मेदारी से मुंह मोड़ रही है। राज्यों को दोगुने से अधिक दामों पर वैक्सीन खरीदने को कहा जा रहा है। वहीं छत्तीसगढ़ सरकार युवाओं के प्रति अपनी संवेदनशीलता का परिचय देते हुए इन वैक्सिनों को अधिक दामों में खरीदकर भी युवाओं के लिए फ्री में उपलब्ध करवा रही है।”

युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुबोध हरितवाल ने कहा, “राज्य सरकार के इस निर्णय से प्रदेश का हर युवा गदगद है। छत्तीसगढ़ युवा कांग्रेस आज इन युवाओं की आवाज बन कर सरकार के इस फैसले के प्रति अपना आभार व्यक्त कर रहा है।” छत्तीसगढ़ प्रदेश युवा कांग्रेस के अध्यक्ष पूर्णचंद (कोको) पाढ़ी के प्रस्ताव पर दो दिन पहले ही आभार दिवस मनाने का फैसला हुआ था।

विधानसभा में हुई थी फ्री वैक्सीनेशन की घोषणा

देश में कोरोना टीकाकरण की शुरुआत 16 जनवरी से हुई थी। राज्यों को केंद्र सरकार मुफ्त टीका उपलब्ध करा रही थी, लेकिन संकेत मिलने लगे थे कि केंद्र सरकार सभी को फ्री में टीका नहीं देगी। विधानसभा के बजट सत्र में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा था, अगर केंद्र सरकार टीकाकरण से पीछे हटती है तो प्रदेश के सभी नागरिकों को राज्य सरकार के खर्च पर टीका लगाया जाएगा।

पिछले सप्ताह हुई फ्री वैक्सीनेशन की घोषणा

केंद्र सरकार ने 19 अप्रैल को 18 से 45 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के लिए देशव्यापी टीकाकरण अभियान की घोषणा की थी। लेकिन इसका खर्च उठाने से इन्कार कर दिया था। केंद्र सरकार से शुरुआती बातचीत के बाद यह तय हो गया कि वैक्सीन राज्य सरकार को ही खरीदना होगा। वह चाहे तो लाेगों से इसका मूल्य ले या फ्री लगवाए। दो दिन बाद 21 अप्रैल को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने फ्री में वैक्सीनेशन की घोषणा की। उसके कुछ दिन बाद कंपनी को 50 लाख डोज का ऑर्डर भेजा गया।

Related posts

तोमर-सिंधिया में सियासी घमासान तेज!:ग्वालियर की मीटिंग में दोनों CM के साथ थे; अफसरों को अलग-अलग निर्देश दिए, सोशल मीडिया पर पोस्ट की, लेकिन एक-दूसरे का नाम लेने से परहेज

presstv

दिल्ली में पूरे परिवार की जिंदा जलकर मौत:तीन झुग्गियों में लगी आग; सिलेंडर ब्लास्ट से 6 लोगों की झुलसकर मौत, मरने वालों में दंपती और उनके चार बच्चे शामिल

presstv

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा का विरोध:छत्तीसगढ़ भाजपा के नेता अपने-अपने घरों के बाहर धरने पर बैठे, रमन सिंह ने कहा- लोकतंत्र के इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ

presstv

दंतेवाड़ा में 127 में से नक्सलगढ़ सहित 116 पंचायतों में 100% वैक्सीनेशन; 25 दिन में ही 36,591 ग्रामीणों ने लगवा लिया टीका

presstv

मध्यप्रदेश में कोरोना:पहली बार 10% की दर से पॉजिटिव केस आए; होली पर 2323 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई, एक्टिव केस 15 हजार के पार पहुंचे

presstv

रॉ मटेरियल देने के लिए कैसे राजी हुआ अमेरिका:प्रभावशाली भारतीयों और कई अमेरिकी सांसदों ने बाइडेन पर दबाब बनाया, जिसके चलते वैक्सीन के रॉ मटेरियल से प्रतिबंध हटा

presstv

Leave a Comment