November 27, 2021
presstv.in
BJP-Kolkata
Other पश्चिम बंगाल राज्य

पश्चिम बंगाल: भाजपा के सभी 77 विधायकों को सुरक्षा मिली, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने दी मंज़ूरी

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि गृह मंत्रालय के आदेश के मुताबिक 77 में से 61 विधायकों को न्यूनतम ‘एक्स’ श्रेणी की सुरक्षा दी जाएगी और सीआईएसएफ के कमांडो तैनात किए जाएंगे. उन्होंने बताया कि बाकी को या तो केंद्रीय सुरक्षा प्राप्त है अथवा उन्हें उच्च ‘वाई’ श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी.

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल विधानसभा के लिए नवनिर्वाचित सभी 77 भाजपा विधायकों के समक्ष खतरे की आशंका को देखते हुए केंद्रीय अर्धसैनिक बल के जवान उन्हें सुरक्षा मुहैया कराएंगे. आधिकारिक सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि विधानसभा के भाजपा सदस्यों की सुरक्षा केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के सशस्त्र कमांडो करेंगे.

उन्होंने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इसकी मंजूरी केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों द्वारा तैयार रिपोर्ट और मंत्रालय द्वारा चुनाव बाद भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ हुई हिंसा की पृष्ठभूमि में वहां भेजी गई उच्चस्तरीय अधिकारियों की टीम की ओर से मुहैया कराई गई जानकारी को संज्ञान में लेते हुए दी.

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि गृह मंत्रालय के आदेश के मुताबिक 77 में से 61 विधायकों को न्यूनतम ‘एक्स’ श्रेणी की सुरक्षा दी जाएगी और सीआईएसएफ के कमांडो तैनात किए जाएंगे.

उन्होंने बताया कि बाकी को या तो केंद्रीय सुरक्षा प्राप्त है अथवा उन्हें उच्च ‘वाई ’ श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी. नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी को पहले ही सीआरपीएफ के जवानों द्वारा ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा दी जा रही है.

रिपोर्ट के अनुसार, अधिकारी के भाजपा में शामिल होने से पहले ही उन्हें पश्चिम बंगाल में जेड श्रेणी और अन्य राज्यों के लिए वाई श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराई गई थी. उन्हें एक बुलेट प्रूफ गाड़ी भी दी गई थी.

वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘राज्य में चुनाव के बाद उत्पन्न स्थिति के मद्देनजर ये लोग संभावित खतरे का सामना कर रहे हैं और इसलिए उनकी सुरक्षा की जरूरत है.’

उन्होंने बताया कि भाजपा के कई प्रत्याशियों, जिनमें दल बदलकर भगवा पार्टी में आने वाले शामिल हैं, को कुछ और समय के लिए केंद्रीय सुरक्षा मिलती रहेगी.

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में 294 सदस्यीय विधानसभा के लिए हुए चुनाव में भाजपा 77 सीटों के साथ मुख्य विपक्षी पार्टी बनकर उभरी है. वहीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व में तृणमूल कांग्रेस ने एक बार फिर सरकार बनाई है.

अधिकारियों के मुताबिक ‘एक्स’ श्रेणी की सुरक्षा में तीन से चार कमांडो होते हैं, जबकि ‘वाई’ श्रेणी में यह संख्या छह से सात कमांडों की हो जाती है. वहीं, ‘जेड’ श्रेणी में व्यक्ति की सुरक्षा के लिए छह से नौ कमांडो तैनात रहते हैं.

सीआईएसएफ और सीआरपीएफ के पास अति विशिष्ट लोगों की सुरक्षा करने की प्रशिक्षित इकाई है और दोनों बल करीब 140 हस्तियों को सुरक्षा मुहैया कराते हैं, जिनमें केंद्रीय मंत्री, सांसद और नौकरशाह शामिल हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Related posts

इंडोनेशिया में चर्च के बाहर आत्मघाती हमला, जान-माल का हुआ नुकसान

presstv

US summons Chinese envoy over Beijing’s coronavirus comments

Admin

कोरोना: महामारी की दूसरी लहर से पहले कई राज्यों ने बंद किए थे अपने विशेष कोविड सेंटर

presstv

जम्मू कश्मीर से रिपोर्ट:एफिल टावर से 35 मीटर ऊंचे ब्रिज के दोनों आर्च जोड़े गए; 2021 के अंत तक बनकर होगा तैयार, भूकंप के तेज झटकों का भी नहीं होगा असर

presstv

मध्य प्रदेश का बदलता मौसम:गर्मी से अभी 2 दिन और राहत रहेगी; उत्तर से हीटवेव आने के कारण 4 अप्रैल से तापमान बढ़ेगा, हफ्ते के अंत तक पारा 41 के पार होगा

presstv

टीके पर राजनीतिक आभार:छत्तीसगढ़ में घरों के बाहर प्लेकार्ड लेकर खड़े हुए युवा कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता, दो दिन पहले तय हुआ था कार्यक्रम

presstv

Leave a Comment