November 27, 2022
THE PRESS TV (द प्रेस टीवी)
_1621248744
Covid-19 Other मध्य प्रदेश

MP में कोरोना वॉरियर्स ध्यान दें:CM ने कहा- कोरोना से मृत कर्मचारियों के परिवार में से एक को मिलेगी अनुकंपा नियुक्ति और 5 लाख रुपए सहायता

मध्य प्रदेश
  • मुख्यमंत्री कोविड अनुकंपा नियुक्ति योजना लागू होगी
  • विशेष अनुग्रह योजना के तहत मिलेगी आर्थिक मदद

मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण की चपेट में आने से कई फ्रंट लाईन वर्कर्स की मौत हो चुकी है। वायरस की चपेट में आकर कई डॉक्टर, नर्स और पुलिस जवान जान गंवा चुके हैं। इस बीच शिवराज सरकार दो योजनाएं लागू करने जा रही है। मुख्यमंत्री कोविड-19 अनुंकपा नियुक्ति योजना और विशेष अनुग्रह योजना। यह घोषणा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को की है।

योजनाओं के तहत कोरोना से मरने वाले कर्मचारियों के परिवार में से किसी एक सदस्य को नौकरी देने और उनके आश्रितों के भरण-पोषण के लिए 5 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी नियमित, स्थाई कर्मचारी, कार्यभारित व आकस्मिक निधि से वेतन पाने वाले, दैनिक वेतन भोगी, संविदा, कलेक्टर दर पर कार्यरत सेवक के परिजनों के आश्रितों में से किसी एक अनुकंपा नियुक्ति उसी पद पर दी जाएगी।

इसी तरह, सरकार कोविड-19 विशेष अनुग्रह योजना लागू कर रही है। इसके तहत कोरोना से जिन कर्मचारियों की मौत हुई है, उनके परिवार के पात्र दावेदार को 5 लाख रुपए की अनुगृ़ह राशि दी जाएगी। यह राशि उनके परिवार का संबल बनेगी। इसमें आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता, कोटवार भी योजना में शामिल होंगे।

उन्होने कहा कि आशा कार्यकर्ताओं के लिए अनुकंपा नियुक्ति की अलग से योजना बनाई जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कर्मचारी राज्य शासन के अभिन्न अंग हैं। कोविड महामारी के बीच कर्मचारी निष्ठा के साथ जान हथेली पर रखकर काम कर रहे हैं। ऐसे में दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएं हुई हैं। कई कर्मचारी काम-काम करते हमेशा के लिए बिछड़ गए। उनके परिवार की चिंता करना हमारी जिम्मेदारी है।

334 शिक्षकों की कोरोना से हो चुकी है मौत
प्रदेश में शिक्षा विभाग के अधिकारी, कर्मचारी व शिक्षक समेत 366 लोगों की कोराेना से मौत हो चुकी है। इसमें सबसे ज्यादा 334 शिक्षकों की संख्या है। साथ ही 19 कर्मचारी, 11 प्राचार्य और 2 अधिकारी शामिल हैं। वहीं, कोरोना संक्रमितों में भी 1809 में से 1633 शिक्षक कोरोना संक्रमित हैं। साथ ही 80 प्राचार्य, 73 कर्मचारी व 23 अधिकारी शामिल हैं।​​​​​

35 बिजली व 88 पुलिसकर्मियों की जान गई
जानकारी अनुसार कोरोना से 35 बिजली कर्मियों व 88 पुलिस कर्मियों की मौत हो चुकी है। राज्य मंत्रालय में ही अब तक 148 अधिकारियों व कर्मचारियों की मौत कोरोना के कारण हो चुकी है। इसके अलावा अन्य विभागों में कई अधिकारी व कर्मचारी जान गंवा चुके हैं।

Related posts

Govt hikes excise duty on petrol and diesel by Rs 3 per litre

Admin

बीते चार सालों में 22 हज़ार से ज़्यादा लोगों की बस हादसों में मौत, अकेले यूपी में क़रीब 5,000

Admin

‘डिजास्टर गर्ल’ ने 37 करोड़ रुपए में बेची अपनी तस्वीर, लोन चुकाने के बाद बाकी पैसा दान करेंगी

presstv

मुस्लिम सिक्कों पर शिव के बैल: हिंदू तुर्क शाह की अजीब दुनिया

Admin

“कांग्रेस के नए अध्यक्ष को गांधी परिवार के विचारों को सुनना चाहिए” : पी चिदंबरम

presstv

छत्तीसगढ़ के 5 और जिलों में बढ़ा लॉकडाउन:​​​​​​​रायगढ़, बालोद, बिलासपुर 6 मई और अंबिकापुर, बलरामपुर 5 मई तक कंटेनमेंट जोन घोषित, अब तक 16 जिलों में बढ़ाया जा चुका है बंद

presstv

Leave a Comment