December 6, 2022
THE PRESS TV (द प्रेस टीवी)
Screenshot_20191122_221949
कोरिया जिला छत्तीसगढ़ भ्रष्टाचार

कोरिया वनमण्डल में हो रहे घोटाले पर कार्यवाही नहीं? जमकर लूटा जा रहा है जंगल? फर्जी देयक भुगतान से करोणा का घोटाला? छत्तीसगढ़ सरकार में सब हो गए कमीशन खोर तो कार्यवाही और जांच करे तो कौन ?

दे प्रेस टीवी (यू0 एफ0 अन्सारी)

ब्यूरो रिर्पोटर कोरिया

कोरिया/छत्तीसगढ़

  • हमने पूर्व के अंक मे मरवाही वनमण्डल की सारे घोटाले से पर्दा उठाया था, उसी कड़ी मे अब हम वनमण्डल कोरिया में हो रहे घोटाले पर से पर्दा उठा रहे है……

कोरिया वनमण्डल के समस्त वन परिक्षेत्रों में कैम्पा योजना में जमकर घोटाला किया जा रहा है। 2018 के पूर्व तक करीब 64 करोण, 45 लाख 80 हजार अभी तक हिसाब नहीं हो पाया है सरकार बदल गई आडिट में इस मामले में आपत्ती भी जताई जा चूकी है। परन्तु 64 करोण का हिसाब आज तक नहीं दिया गया है। अब 2018 से पूनः इसी प्रकार डीएफओ और एक एसडीओ और उनके प्रभारी रेन्जरों के द्वारा मिलकर बहुत ही शातिर तरीके से मलाई उड़ाई जा रही है।


छत्तीसगढ़ सरकार के वन मन्त्री श्री मोहम्मद अकबर का चहेता बनने का दिखावा करने वाले इस एसडीओ मैडम का सरकार कुछ नहीं कर पा रही है, और करेगी भी क्यों, क्योंकी हम्माम मे तो सब नंगे है?जब ए कूसमी वनपरिक्षेत्र में रेन्जर थीं तब इनके द्वारा गोबर घोटाला किया गया था।इनके खिलाफ कोई कार्यवाही नही कर सकता है। बावजूद इसी का फायदा इनके द्वारा आज तक उठाया जा रहा है। चाहे कांग्रेस हो या बीजेपी हर नेता और हर विधायक, सांसदो से इनकी जमकर सांठ गांठ है। इसलिए अपनी पहुंच का फायदा इनको आज तक मिलता आया है।


कोरिया वनमण्डल के, वन परिक्षेत्र सोनहत, वनपरिक्षेत्र देवगढ़, वन परिक्षेत्र खड़गंवा में विगत 2014 से 2021 तक के समस्त बाउचरो की निगरानी और उसकी सूक्ष्म जांच की जाए तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। करोणो रूपए के फर्जी देयक बनाकर राशि अपने ठेकेदारो के मार्फत वसूल लिए गए है। इन फर्जी ठेकेदारो की जांच की जाए तो इनका भी एक से एक कारनामा उजागर हो जाएगा।


इसी प्रकार वनमण्डल का एक बाबू जिसका नाम यहां बताना जरूरी नहीं है यह भी यहां पर विगत कई सालो से जमा हुआ है पूरा गेम इस बाबू के माध्यम से ही यहां पर समस्त वन परिक्षेत्रो के मार्फत से डीएफओ के सांठ गांठ से चलता है। फर्जी बिल बाउचर बनाकर यहां भी कराणो डकारे गए है जिसकी जांच करना अति आवश्यक है। इस बाबू का कहना है कि मेरा कोई कूछ नहीं बिगाड़ सकता है।


वैसे ही बैकुण्ठपुर वन परिक्षेत्र में पूर्व में पदस्थ अनिल सिंह जो सूरजपुर गए फिर बलरामपुर गए और वहां से एसडीओ बन चूके है इनके कार्यकाल का समस्त बाउचर उठाकर जांच की जाए तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।
कोरिया वनमण्डल के डिप्टी रेन्जर सोनहत, देवगढ़, खड़गवां, बहुत ही शातिर तरीके से फर्जी बिल और बाउचर बनवाकर मलाई खा रहे है और इनका साथ डीएफओ और एसडीओ दे रहे है।

कोरिया वनमण्डल की एक एक जानकारी हमारे पास मौजूद है। लाक डाउन के बाद इन समस्त परिक्षेत्रो मे हुए घोटाले की एक एक शिकायत वनमन्त्रालय भेजकर कार्यवाही की मांग की जाएगी। यदि कार्यवाही नही होती है तो हाईकोर्ट मे एक जनहित याचिका लगाकर कार्यवाही और जांच की मांग की जाएगी।

अगली कड़ी जल्द प्रसारित की जाएगा- दे प्रेस टीवी (यू0एफ0अन्सारी) ब्यूरो रिर्पोटर कोरिया

Related posts

377 चिटफंडी पर केस…इन्वेस्टर्स को वापस कराए 55 करोड़ रुपए:10 महीने में माफियाओं पर चला ‘मामा का बुल्डोजर’

Admin

IAS समीर विश्नोई और दो कारोबारियों को जेल

presstv

Coronavirus pandemic: BCCI suspends all domestic tournaments including Irani Cup

Admin

सरकार ने अफसर पर नहीं की कार्रवाई तो कांग्रेस विधायक ने सोनिया गांधी को लिख दी चिट्‌ठी, कहा – जनाधार प्रभावित होगा

presstv

CG में 3 हजार पदों पर भर्तियां:विद्युत वितरण कंपनी ने लाइनमेन के पदों की संख्या दोगुनी की, 20 सितंबर तक कर सकेंगे आवेदन; सिर्फ मूल निवासी ही होंगे पात्र

presstv

केरल: दो महिलाओं की कथित रूप से बलि दी गई, तीन लोग गिरफ़्तार

Admin

Leave a Comment