November 27, 2022
THE PRESS TV (द प्रेस टीवी)
image-5-1
मध्य प्रदेश राजनीति राज्य

‘दंगाइयों को संदेश’ या ‘अतिक्रमण विरोधी अभियान’— खरगोन में दंगों के बाद आखिर हुआ क्या था

द प्रेस टीवी

खरगोन के दंगा प्रभावित इलाकों में चले बुलडोजर से दर्जनों घर और दुकानें ध्वस्त हो गए हैं. कानूनी विशेषज्ञ किसी अन्य कथित अपराध में शामिल लोगों को दंडित करने के लिए अधिकारियों द्वारा अतिक्रमण कानूनों का सहारा लिए जाने पर सवाल उठा रहे हैं.

खरगोन: मध्य प्रदेश के खरगोन में पिछले रविवार को रामनवमी के मौके पर सांप्रदायिक हिंसा की घटनाएं— जिसमें पथराव और आगजनी हुई- के बाद जिला प्रशासन ने ‘दंगाइयों को कड़ा संदेश देने’ के लिए ‘अवैध रूप से बने’ घरों को निशाना बनाकर एक अतिक्रमण ध्वस्तीकरण अभियान चलाया था.

जिला कलेक्टर पी. अनुग्रह ने दिप्रिंट से बातचीत में कहा कि अधिकांश दंगे 5 किलोमीटर के दायरे में हुए थे. उन्होंने कहा, ‘हमने उन क्षेत्रों की पहचान की जहां सबसे अधिक दंगे हुए थे. फिर हमने उन इलाकों का चयन किया जहां सरकारी जमीन पर अवैध ढांचों का अतिक्रमण था. इसके बाद हमने दंगाइयों और प्रभावित लोगों को संदेश देने के लिए एक अभियान चलाया.’

यह पूछे जाने पर कि किसी कथित दंगाई को कोर्ट में दोषी ठहराए बिना प्रशासन हिंसक घटनाओं के एक दिन बाद ‘अवैध’ घरों को कैसे निशाना बना सका, जिला कलेक्टर ने कहा, ‘चार्जशीट सब कुछ बताएगी.’

अनुग्रह ने कहा कि प्रशासन ने गिरफ्तार किए गए सभी लोगों के घरों को नहीं गिराया है. उन्होंने कहा, ‘हम यहां निर्दोष लोगों को परेशान करने के लिए नहीं हैं.’

जिला प्रशासन के अधिकारियों का कहना है कि जिनके घरों और दुकानों को तोड़ा गया था, उन्हें पूर्व सूचना दी गई थी. लेकिन कई प्रभावितों ने दिप्रिंट को बताया कि ऐसा कुछ नहीं था और जब बुलडोजर और पुलिसकर्मी उनके दरवाजे पर पहुंचे तो वे हैरान रह गए.

कानूनी विशेषज्ञों के मुताबिक, अगर अवैध कब्जे वाली जमीन पर रहने वालों को नोटिस दिया भी गया था, तो उन्हें विध्वंस के खिलाफ अपील का उचित मौका दिया जाना चाहिए था.

सुप्रीम कोर्ट के एक वकील एहतेशाम हाशमी ने कहा, ‘यह किसी को दंडित करने का तरीका नहीं है. इस तरह किसी अन्य अपराध के आरोपियों के खिलाफ अतिक्रमण कानून के तहत मुकदमा चलाना, समाज के खिलाफ एक अपराध है.’

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने गुरुवार को एक भाषण, जिसे उन्होंने बाद में ट्वीट भी किया, में कहा, ‘जिनके घर जल गए (दंगे में), हम उनके घरों का पुनर्निर्माण करवाएंगे. जिन लोगों ने घरों को जलाया, हम उन्हें कड़ी सजा देंगे, मैं उन्हें बख्शूंगा नहीं.’

Related posts

जांजगीर में पुलिस टीम पर जानलेवा हमला:पामगढ़ थाना प्रभारी और ASI गंभीर रूप से घायल

presstv

झारखंड के विधायकों की राजनीतिक बाड़ेबंदी जारी:दो मंत्री रांची जाकर वापस लौटे रायपुर, कांग्रेस अध्यक्ष राजेश ठाकुर दिल्ली रवाना

Admin

पीएम मोदी का नेपाल दौरा: चीन के बनाए एयरपोर्ट पर कदम नहीं रखेंगे पीएम मोदी, जानें क्‍या है ड्रैगन का मात देने का प्‍लान

Admin

युद्ध के बीच यूक्रेन से शिफ्ट होगी इंडियन एम्बेसी:सभी ऑपरेशन्स पोलैंड से संचालित होंगे, इससे पहले कीव से लीव शिफ्ट की गई थी एम्बेसी

Admin

राष्ट्रपति चुनाव में क्यों नहीं होता है ईवीएम का इस्तेमाल? ये है वजह

Admin

गहलोत की तारीफ पर भड़के पायलट:कहा- बगावत करने वालों पर तुरंत एक्शन हो; CM की नसीहत- ऐसा बयान नहीं देना चाहिए

presstv

Leave a Comment