November 26, 2022
THE PRESS TV (द प्रेस टीवी)
cgg_1664957351
जीवन शैली देश दुनिया राजनीति राज्य वर्ल्ड न्यूज विशेष

भारत जोड़ो यात्रा में पहुंचीं सोनिया गांधी:15 मिनट पैदल चलने के बाद राहुल ने वापस भेजा था, आराम के बाद फिर लौटीं

बेंगलुरु
  • यात्रा के दौरान सोनिया गांधी के जूते का फीता बांधते हुए राहुल।

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी आज कर्नाटक के मंड्या में पार्टी की भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुईं। राहुल ने कंधे पर हाथ रखकर मां का स्वागत किया। इसके बाद यात्रा में मौजूद महिला नेताओं ने सोनिया गांधी का हाथ थाम लिया।

करीब 15 मिनट तक पैदल चलने के बाद राहुल ने सोनिया को वापस कार में भेज दिया। हालांकि, कुछ देर आराम करने के बाद सोनिया फिर से पैदल यात्रा में शामिल हो गईं। सोनिया एक महीना पहले ही कोरोना से उबरी हैं। अभी उनका स्वास्थ्य पूरी तरह से ठीक नहीं हुआ है।

मंड्या में भारत जोड़ो यात्रा में सोनिया और राहुल गांधी के साथ कर्नाटक कांग्रेस के अध्यक्ष डीके शिवकुमार और नेता प्रतिपक्ष सिद्धरमैया भी शामिल।
मंड्या में भारत जोड़ो यात्रा में सोनिया और राहुल गांधी के साथ कर्नाटक कांग्रेस के अध्यक्ष डीके शिवकुमार और नेता प्रतिपक्ष सिद्धरमैया भी शामिल।

कांग्रेस का दक्षिण कनेक्शन
कर्नाटक से सोनिया गांधी का गहरा संबंध है। जब कभी गांधी परिवार पर राजनीतिक संकट आया है, तब दक्षिण भारत ने उसे मुश्किल से उबारा है। भारत की दिवंगत प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने भी दक्षिण भारत की सीटों से लोकसभा चुनाव लड़ा है। इमरजेंसी की बाद जब इंदिरा गांधी की सरकार चली गई थी तो 1980 में जब उन्हें एक सुरक्षित लोकसभा सीट की जरूरत थीं।

ऐसे में उन्होंने कर्नाटक के चिकमंगलूर से चुनाव लड़ा था। इंदिरा गांधी ने आंध्रप्रदेश के मेंडक और UP के राय बरेली से नामांकन दाखिल किया था। हालांकि, बाद में उन्होंने राय बरेली की सीट छोड़ दी।

सोनिया और राहुल की भी ढाल है दक्षिण
सोनिया गांधी ने भी कर्नाटक के बेल्लारी सीट से चुनाव लड़ चुकी हैं। 1999 के लोकसभा चुनाव में सोनिया गांधी को UP की अमेठी सीट से हारने का डर था। ऐसे में उन्होंने बेल्लारी से नामांकन दाखिल किया और अपने नामांकन को लेकर गोपनीयता रखने की कोशिश की।

राहुल ने मां सोनिया के साथ फोटो ट्वीट करते हुए लिखा- हम पहले भी तूफानों से कश्ती निकाल कर लाए हैं, हम आज भी हर चुनौतियों की हदें तोड़ेंगे, मिलकर भारत जोड़ेंगे।
राहुल ने मां सोनिया के साथ फोटो ट्वीट करते हुए लिखा- हम पहले भी तूफानों से कश्ती निकाल कर लाए हैं, हम आज भी हर चुनौतियों की हदें तोड़ेंगे, मिलकर भारत जोड़ेंगे।

हालांकि BJP को यह बात पता चल गई और उन्होंने सोनिया के खिलाफ सुषमा स्वराज को मैदान में उतार दिया। सुषमा स्वराज इस सीट से 56 हजार के वोटों से हार गई थीं। यही नहीं जब 2019 के लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी को लगा कि वो अमेठी से चुनाव हार जाएंगे तो उन्होंने केरल के वायनाड से चुनाव लड़ा।

Related posts

ज्ञानवापी सर्वे पूरा: कुएं में जहां शिवलिंग मिला वो जगह होगी सील, हिंदू पक्ष के सोहन लाल बोले- अब मलबे के नीचे जांच की मांग, फोटोग्राफर ने किए कई खुलासे

Admin

भारत में गेमचेंजर कैसे होंगे इलेक्ट्रिक व्हीकल:चीन जैसे 5 कदम उठाने से बढ़ेगी बिक्री

Admin

राष्ट्रपति चुनाव में क्यों नहीं होता है ईवीएम का इस्तेमाल? ये है वजह

Admin

मनेन्द्रगढ़ वन मंडल में वर्षों से चल रहा है कमीशन का बहुत बड़ा खेल? जंगल हुआ बर्बाद? 25 से 30 करोड़ का घोटाला होने का अनुमान-सूत्र

presstv

कोर्ट की फटकार के बाद चुनाव आयोग ने कहा, कोविड नियम लागू करवाना हमारी ज़िम्मेदारी नहीं

presstv

चिदंबरम ने दीं जोरदार दलीलें, SC को नोटबंदी के खिलाफ याचिकाओं पर दखल देने के लिए किया विवश

Admin

Leave a Comment