November 26, 2022
THE PRESS TV (द प्रेस टीवी)
pjimage-2022-01-20T115730.480
Other उतर प्रदेश जीवन शैली झारखंड तकनीक धर्म बिहार भ्रष्टाचार राजनीति राज्य वर्ल्ड न्यूज विशेष

मुजफ्फरनगर दंगों में भाजपा विधायक को 2 साल की सजा:9 साल बाद आया फैसला; 12 अन्य लोग भी दोषी ठहराए गए

मुजफ्फरनगर

मुजफ्फरनगर के कवाल में साल 2013 में दंगा हुआ था। इसमें उपद्रव और सरकारी काम में बाधा डालने का आरोप भाजपा विधायक विक्रम सैनी समेत 24 लोगों पर लगा था। इसका केस भी दर्ज किया गया था। इसकी सुनवाई मुजफ्फरनगर कोर्ट में मंगलवार को हुई। सभी 12 आरोपियों को दो-दो साल की सजा सुनाई गई। साक्ष्य के अभाव में 12 लोगों को बरी कर दिया गया। सजा 3 साल से कम थी, इसलिए विधायक विक्रम सैनी को कोर्ट से जमानत भी मिल गई।

कवाल गांव में गौरव और सचिन की हत्या कर दी गई थी। दोनों आपस में ममेरे भाई थे। जानसठ थाने के तत्कालीन प्रभारी निरीक्षक शैलेन्द्र कुमार शर्मा ने मुकदमा दर्ज कराते हुए बताया था कि 29 अगस्त को वह अपने साथी पुलिसकर्मियों के साथ कवाल गांव में गश्त पर थे। 12 बजे उन्हें गांव में मोहल्ला भूमिया के आसपास हिंदू-मुस्लिम पक्ष के बीच झगड़े की सूचना मिली। जब वहां पर जाकर देखा, तो अनीस और अबरार के मकान की छत पर चढ़कर मुस्लिम समाज के लोग, जबकि चंद्रशेखर बोस के मकान की छत से दूसरे पक्ष के लोग एक-दूसरे पर पथराव कर रहे थे।

ये फोटो मुजफ्फरनगर के कवाल में दंगे के वक्त की है। (फाइल फोटो)
ये फोटो मुजफ्फरनगर के कवाल में दंगे के वक्त की है। (फाइल फोटो)

आरोप था कि मौलाना मुकर्रम ने अपनी लाइसेंसी बंदूक से फायरिंग की थी, जबकि दीपक आदि भी नाजायज असलहे से फायरिंग कर रहे थे। पुलिस ने मौके से 9 लोगों को गिरफ्तार कर लिया था। काफी लोग फरार हो गए थे। इनमें 15 लोगों को नामजद किया गया था।

बलकटी के साथ पकड़े गए थे विधायक विक्रम सैनी
जानसठ के तत्कालीन SHO शैलेन्द्र वर्मा ने हथियारों के साथ मौके से गिरफ्तारी की थी। इनमें खतौली से भाजपा के मौजूदा विधायक विक्रम सैनी को बलकटी के साथ गिरफ्तार किया गया था। पुलिस के अनुसार, आरोपी धर्मवीर और सलेकचंद को एक-एक बल्लम, रविन्द्र को फरसा और नूर मोहम्मद को तलवार के साथ हिरासत में लिया गया था। रोहताश, सोनू, दीपक, प्रवीण को भी मौके से ही गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने FIR में फारूख पर रायल से फायरिंग करना दिखाया था। पुलिस ने कुल 24 लोगों को नामजद आरोपी बनाया था।

लोगों को जान बचाने के लिए घरों से सुरक्षित स्थानों के लिए पलायन करने को मजबूर होना पड़ा था। -फाइल फोटो।
लोगों को जान बचाने के लिए घरों से सुरक्षित स्थानों के लिए पलायन करने को मजबूर होना पड़ा था। -फाइल फोटो।

एडीजे-4 कोर्ट में हुई मुकदमे की सुनवाई
सहायक जिला शासकीय एडवोकेट नरेन्द्र शर्मा ने बताया कि घटना के मुकदमे की सुनवाई अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश कोर्ट संख्या-4 गोपाल उपाध्याय की कोर्ट में हुई। उन्होंने बताया कि कोर्ट ने दोनों पक्ष की बहस सुनने के बाद विधायक विक्रम सैनी सहित 12 लोगों को विभिन्न आरोपों में दोषी ठहराया गया। कोर्ट ने विधायक विक्रम सैनी सहित बाकी दोषियों को 2 साल की कैद की सजा सुनाई।

विधायक सहित सभी दोषियों को कोर्ट ने दी जमानत
विधायक विक्रम सैनी के अधिवक्ता भरतवीर अहलावत ने बताया कि उनकी और से कोर्ट में विक्रम सैनी की जमानत अर्जी दाखिल की गई थी। इस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी। दोषी ठहराए गए विक्रम सैनी सहित सभी 12 लोगों को 25-25 हजार रुपए के निजी बंधपत्र पर जमानत दे दी गई।

Related posts

समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव का निधन-समाजवादी पार्टी में शोक की लहर

Admin

इंडोनेशिया में चर्च के बाहर आत्मघाती हमला, जान-माल का हुआ नुकसान

presstv

भारत को मिला स्वदेशी लड़ाकू हेलिकॉप्टर:हर मिनट 750 गोलियां दागता है

Admin

भारत में Apple iPhone दिसंबर तक देंगे 5G नेटवर्क की सुविधाएं, चल रहा टेस्टिंग का दौर

Admin

सबसे गरीब को सबसे पहले लगेगा टीका, हर दिन 13 से 15 हजार नए संक्रमित मिल रहे, 7 दिन में 3 लाख 86 हजार सैंपल जांचे गए

presstv

राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग के लिए हरियाणा कांग्रेस विधायक कुलदीप बिश्नोई निष्कासित

Admin

Leave a Comment